सदमार्ग विद्यापीठम

सदमार्ग विद्यापीठम का उद्देश्य  भारत ही नही वरन पुरे विश्व में शिक्षा संस्थानों को सदमार्ग परिवार से जोड़ना है। अपने विद्यार्थियों को सनातन विज्ञानम् से अवगत करवाकर उनका सर्वांगीण विकास करना उन्हें मेधावी,विद्वान् और कुशल प्रबन्धक बनाना हैं संस्थानों को सम्पर्कित,सम्बन्धित या संचालित करने है।

शिक्षा आज एक शुद्ध व्यापार है हजारो नही लाखो जगदीश गांधी गधों को गधे बनाये रखने के लिए पूरे देश के सम्पन्न इलाको में सक्रीय हैं ,जिन्हें शिक्षा का श नही पता विशुद्ध षड्यन्त्र  कारी हैं,शातिर प्रबन्धक और मार्केटिंग के गुरु हैं। और इन्हें कोई और नही मैकाले के मानस पुत्र ही संरक्षण और संवर्द्धन दे रहे हैं। जैसे टी वी चैनलों को राष्ट्र विरोधी बताने मात्र से कुछ नही होता रिमोट आप के हाथ मे है उन चेनल्स को ही देखना बन्द कर दे आमजन को जागरूक करके करवा दें,अच्छे चेनल्स का विकल्प दें। ठीक उसी प्रकार मात्र आलोचना से आगे बढ़कर अच्छे विद्यालयों का विकल्प दें,अभिभावकों को जागरूक करें। हमे तो आज की परिस्थितियां चारों ओर लूट खसोट ,बेईमानी, भ्रष्टाचार,बलात्कार ,साइबर क्राइम आदि देखकर लगता है ।
         लार्ड मैकाले के कान्वेंट बेस फार्मूले पर चल रहे शिक्षा के नाम पर ये बड़े बड़े शोरूम्स और 5-7 स्टार होटल्स मात्र लार्ड मैकाले के और स्वयं के सपने पूर्व कर रहे हैं । शिक्षा संस्कारों से इनका कोई सरोकार नहीं केवल साक्षरता दर बढ़ा रहें है शिक्षा की सार्थकता नहीं। ये विद्यालय नही विशुद्ध व्यापारिक केंद्र हैं शिक्षा के कसाईखाने हैं।
गुरु व्यापारी हो जाएगा बिक जाएगा तो यही हाल होगा याद कीजिये महाभारत निश्चित है।
जागो जगाओ -देश बचाओ।
 सनातन विज्ञानम विजयते।
 डॉ मनोज शर्मा,मोटिवेटर-सनातन विज्ञानम ।
 राष्ट्रीय प्रभारी-सदमार्ग परिवार।
प्रधान संपादक-सदमार्ग पत्रिका/मीडिया। 9215229687,9017229687