अच्छे लोगों की तलाश

मनुष्य कितना चतुर है वह जानता कि झूठ बोलना पाप है फिर भी बोलता है। वह जानता है कि बेईमानी का अंत बुरा ही है फिर भी करता है। वह जानता है कि गुटका बीड़ी सिगरेट शराब तंबाकू के खाने पीने का 100% के अलावा कोई लाभ नही फिर भी सेवन करता है पाप व् पुण्य ,धर्म व् अधर्म को अच्छी तरह भलीभांति जनता और समझता है वह जानता है अभिमान पतन का कारण है फिर भी नही छोड़ता, फिर भी नही डरता अपने मन की करता है अपनी आत्मा की एक नही सुनता परमात्मा की क्या ताकत उसका कुछ बिगाड़ ले।। परन्तु सदमार्ग परिवार तो उन महात्माओं को ,उन ऋषियों को,उन देवताओं को, उन इशांशो को तलाश रहा है जो वेदों व् वेदांतों श्रीमद्भगवद गीता के अनुसार केवल शरीर ही मरता है आत्मा तो अजर अमर है के अनुसार ईश्वरीय कारज करने के लिए उसका निमित्त बन इस सुंदर संसार में ही निष्काम ,निस्वार्थ भाव से निर्लेप रहते हुए भी विचरण कर रहे हैं ऐसी विभूतियों को तलाश रहा है। देव कार्यों के लिए असुरों से अपेक्षा नहीं,देवदूतों की तलाश है।

डा मनोज शर्मा सदमार्ग सूत्र 9215229687