सूर्यकवि पण्डित लख्मीचन्द : संक्षिप्त जानकारी

*पण्डित लख्मीचन्द : संक्षिप्त जानकारी*
*जन्म तिथि : 15-07-1903*
*स्वर्गवास : 17-10-1945*

*पिता का नाम —- पं० उमीदराम
*गांव — जांटीकलां
*जिला:-* सोनिपत
*भाई : -* कंगण एवं दीपा,

*बहने —-
छोटो देवी( नांगल में विवाहित)*
– रत्नो देवी (भूररी में विवाहित)*
– धन्ता देवी ( जेठड़ी में विवाहित)
*पत्नि:-* भरपाई देवी उर्फ बर्फी देवी,
*ससुर:-* श्री बसती राम (गांव हसलापुर, गुरूग्राम)
*साला:-* श्रीचन्द
*पं जी के सतगुरू:-* पं मानसिंह सूरदास (गांव बसौदी)

*पं जी के शिष्यो की सूची:-*
(जो रागनी भजन गाने या बनाने में निपुण थे)
पं राम चन्द्र गांव खटकड़
पं रतीराम गांव हीरापुर
पं माईचन्द गांव बबैल
पं सुलतान गांव रोहद
पं चन्दन लाल गांव बजाणा
पं मांगेराम गांव पांची
महेर सिंह फौजी गांव ब्रोहणा
पं राम स्वरूप गांव स्टावली
पं ब्रह्मा गांव शाहपूर बड़ौली
श्री धारा सिंह गांव बड़ौत
श्री धर्मे जोगी गांव डिकाणा
श्री जहूर मीर गांव बाकनेर
श्री सरूप गांव बहादूरगढ़
श्री तुगंल गांव बहदूगढ़
श्री हरबंश गाव पथरपुर (यु. पी.)
श्री लखी गांव धनौरा (यु. पी.)
श्री मित्रसैन गांव लुहारी (यु. पी.)
श्री चन्दगीराम गांव अटेरणा
श्री मुन्शी मिरासी खेवड़ा (बाद मे पाकिस्तान चले गये)
श्री गुलाब रसूल गांव पिपली खेड़ा (बाद मे पाकिस्तान चले गये)
श्री हैदर गांव नया बांस (बाद मे पाकिस्तान चले गये)

पं लख्मीचन्द के सगे भाई दीपा एवं शिष्य तथा सगे मामा के लड़के पं रतिराम सांगी एक ही घर में सुराणा, यू.पी. में सगी बहनों से विवाहित थे।
*पुत्र:-*स्व. पं तुलेराम सांगी ने काफी दिनो तक बैड़ा सभाले रखा था,
*सुपोत्र* पं विष्णुदत्त अपने दादा लख्मीचन्द द्वारा बना सांग आज तक भी कर रहे है…!!
<<जय दादा लख्मीचन्द की >>

Leave a Reply